Motivational poem

लहरों से डरकर नौका पार नहीं होती,
कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती ।

नन्हीं चींटीं, जब दाना लेकर चलती है, चढ़ती दीवारों पर, सौ बार फिसलती है ।

मन का विश्वास, रंगो में साहस भरता है, चढ़कर गिरना, गिरकर चढ़ना, कभी ना अखरता है ।

आखिर उसकी मेहनत बेकार नहीं होती, कोशिश करने वालों की, कभी हार नहीं होती ।

असफलता एक चुनौती है, स्वीकार करो, क्या कमी रह गयी, देखो और सुधार करो ।

जब सफल न हो, नींद चैन को त्यागो तुम, संघर्षो का मैदान छोड़, कभी मत भागो तुम,
 ​
कुछ किये बिना ही, जय-जयकार नहीं होती, कोशिश करने वालों की, कभी हार नही होती ।

~हरिवंश राय बच्चन की पंक्तियाँ





Comments

Popular posts from this blog

Soul to soul connection

Heart wants what it wants!💔

I regret.. i regret about it everyday 💔